Breaking News जम्मू कश्मीर: पुंछ में आतंकी हमले में भारतीय सेना के जवान शहीद, आतंकियों की तलाश में जुटे सुरक्षा बल, पुंछ में Mobile Internet Service बंद

भारतीय सेना की 48 राष्ट्रीय राइफल्स की एक टुकड़ी पर जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी हमला

भारतीय

गुरुवार, 21 दिसंबर को पुंछ के डेरा गली से होते हुए राजौरी जा रही भारतीय सेना की 48 राष्ट्रीय राइफल्स की एक टुकड़ी पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया, जिसमें हमारे देश के 4 वीर जवान शहीद हो गए। 1. RFN Gautam Kumar 2. Rfn Chandan Kumar3.Naik Birendra Singh 4.Naik Karan । जिसके बाद भारतीय सुरक्षा बल पुंछ और राजौरी के पास के इलाकों में आतंकियों की तलाश में छापेमारी कर रहे हैं.

भारतीय

When did the attack happen कब हुआ था हमला?

गुरुवार दोपहर को पुंछ के डेरा गली से राजौरी के बुफलियाज की ओर जा रहे भारतीय सेना के राष्ट्रीय राइफल्स के दो वाहनों, एक जिप्सी और एक मिनी ट्रक पर आतंकवादियों ने घात लगाकर हमला कर दिया, जिसमें हमारे चार वीर जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने यह जगह इसलिए चुनी क्योंकि डेरा गली पर सेना की गाड़ियां धीमी हो जाती हैं क्योंकि यहां कई मोड़ हैं और रास्ता उबड़-खाबड़ है.

who took responsibility किसने जिम्मेदारी ली

इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी People Anti-Fascist Front (PAFF) ने ली है. आतंकियों ने हमले वाली जगह की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी की हैं.

PAFF फोटो में अत्याधुनिक अमेरिकी निर्मित M4 कार्बाइन असॉल्ट राइफल दिखाई गई है। एम4 कार्बाइन असॉल्ट राइफल 1980 के दशक में संयुक्त राज्य अमेरिका में विकसित एक हल्की गैस चालित हैंडगन है।

What Next

भारतीय सेना के सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर की स्थानीय पुलिस ने पुंछ और राजौरी के आसपास के इलाकों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। पुंछ और राजौरी के पास के जंगलों में आतंकियों की तलाश की जा रही है.

Political View

विपक्षी नेताओं ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकवादी हमले की निंदा की और सुरक्षा मुद्दे से निपटने के लिए केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की।

Scroll to Top