दहेज में कार नहीं मिली तो विवाहिता को घर से निकाला – अधिकारियों ने दर्ज करी रिपोर्ट

दहेज

किशनी, उत्तर प्रदेश:

प्रताड़ना का शिकार होकर एक विवाहिता ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ दहेज में कार मांगने की शिकायत थाने में दर्ज करायी है. मामले की जांच व कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

कार की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को घर से निकाला:

थाना क्षेत्र के ग्राम बोझा शमशेरगंज निवासी उर्मिला पत्नी सहदेव सिंह ने पुलिस को अपनी दुखभरी कहानी सुनाई। उर्मीला की बेटी अंजू की शादी चार साल पहले निहालपुर एलाऊ निवासी जयवीर सिंह यादव के बेटे रजनीश से हुई थी। शादी के एक साल बाद ससुराल वाले दहेज में कार की मांग करने लगे।

कार की मांग पूरी न होने पर अत्याचार:

परिजन दहेज में कार की मांग कर अंजू को प्रताड़ित करने लगे। जब उसकी कार की मांग पूरी नहीं हुई तो उसने 2 नवंबर को अंजू को मारपीट कर घर से निकाल दिया. इस घटना के बाद परिवार और रिश्तेदारों को बुलाया गया और पंचायत हुई, पंचायत के दौरान वृद्ध नाना की भी पिटाई की गई। पुत्री को भी ससुरालीजन ने पीटा।

पुलिस ने शुरू की कार्रवाई:

इस घटना के खिलाफ उर्मिला ने थाने में शिकायत दर्ज करायी है और पुलिस को अपने ससुराल वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है. थाना प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि उर्मिला की शिकायत के आधार पर थाने में ससुरालवालों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है.

महिला सशक्तिकरण और दहेज के खिलाफ लड़ाई:

दहेज के मामले में महिला सशक्तिकरण और न्याय की दिशा में अहम कदम उठाने की जरूरत है। दहेज के खिलाफ लड़ाई में सहमति और समर्थन जरूरी है ताकि महिलाएं अपने अधिकारों की रक्षा कर सकें।

Source: Read

Scroll to Top